देवनारायम मंदिर ट्रस्ट की मीटिंग

हैदराबाद में गुर्जर समाज तेलंगाना की ओर से लोकदेवता भगवान देवनारायण का करोड़ों की लागत से भव्य मंदिर निर्माण करवाया जाएगा। मंदिर निर्माण को लेकर गुर्जर समाज के अध्यक्ष देवीदत्त गुर्जर की अध्यक्षता में मलकपेट के मात्रिकास में ट्रस्टियों की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें मंदिर ट्रस्ट, मंदिर की डिजाइन, लागत और समितियों पर मंथन हुआ।  इस मौके पर संस्था अध्यक्ष देवीदत्त गुर्जर ने कहा कि हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है लिहाजा उसे जिंदा रखना हमारा फर्ज है ताकि आने वाली पीढ़ियां मरुधरा का उसी स्वरूप में याद रखें। गुर्जर ने कहा कि मंदिर के निर्माण से गुर्जर समाज में एकता बढ़ेगी और समाज एक जाजम पर आकर समाज सुधार के कामों का आगे बढ़ा पाएगा।

बैठक में संस्था अध्यक्ष देवीदत्त कोली, तरूण कोली, मीनादेवी कोली, पुजा कोली, नोयल गुर्जर, नाथूराम गीड़, विष्णु भावला, राणाराम कटारिया,बहादुरराम भालोट, चेनाराम नरषंण, बहादुरराम कालस, कानाराम कालस, देवाराम कोली, भीकाराम चांदेला, शिवलाल नरषंण, भियाराम कालस, बहादुरराम मोटर, भाकरराम मोटर, चेनाराम लिड़िया, धनाराम कोली, हाथीराम कवाड़ा, दुदाराम चव्हाण, मांगीलाल चाड़, मांगीलाल चाड़, मुरली चौपड़ा, सुभाष फागणा, लक्ष्मण बजाड़, चेनाराम चाड़, अमराराम फागणा, पप्पुराम फामड़ा, भागुराम फारक, ईश्वर तंवर को मंदिर का ट्रस्टी बनाया गया है। वहीं गोविंद चौपड़ा, बादरराम चांदिला और बक्साराम हाकला को कार्यकारिणी सदस्य बनाया गया है। समाज की आगामी बैठक में में ट्रस्टियों और कार्यकारिणी सदस्यों की तादाद  बढ़ाने पर और चर्चा होगी। बैठक में समाज की ओर से खरीदे गए प्लॉट पर जल्द ही चारदीवारी और पेयजल की व्यवस्था करने के साथ ही पेड़ पौधे लगाने का भी ऐलान किया गया।

हैदराबाद में बड़ी तादाद में प्रवासी राजस्थानी गुर्जर समाज के लोग रहते हैं। जिनका हर आयोजन मरुधरा की नायाब संस्कृति को बढ़ावा देने वाला होता है और तेलुगू धरा पर समाज के आराध्य देव भगवान देवनारायण का ऐतिहासिक मंदिर भी इसी कड़ी का हिस्सा है।