नई दिल्ली. दिल्ली में होने वाले नगर निगम चुनाव से राष्ट्रीय राजधानी में खोई जमीन तलाशने में जुटी कांग्रेस को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। अरविंदर सिंह लवली के बाद पार्टी को जोरदार झटका देते हुए बरखा सिंह ने गुरुवार को पार्टी की महिला शाखा के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे के लिए उन्होंने पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी तथा दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन को जिम्मेदार ठहराया है।

दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष बरखा सिंह ने कहा, “राहुल गांधी तथा अजय माकन के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने महिला सशक्तीकरण तथा महिला सुरक्षा मुद्दों का इस्तेमाल केवल वोट लेने के लिए किया।”उन्होंने कहा, “मुद्दे से उनका कोई लेना-देना नहीं है।”

सिंह ने कहा, “मौजूदा संगठन में जब मैं खुद असुरक्षित थी, फिर उस संगठन में रहकर मैं महिलाओं को कैसे सशक्त कर सकती थी। इसलिए मैंने दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।” बरखा सिंह ने पार्टी के उपाध्यक्ष की क्षमता पर सवाल उठाने वाले पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं के बयान का हवाला देते हुए कहा, “पार्टी का नेतृत्व करने में राहुल गांधी अक्षम हैं।”

उन्होंने कहा कि इसी कारण से कांग्रेस के कई नेता पार्टी छोड़ गए हैं। बरखा ने कहा, “राहुल गांधी संगठन में मौजूद मुद्दों का समाधान करने के अनिच्छुक हैं। राहुल गांधी क्यों उन नेताओं की बैठक नहीं लेना चाहते, जो उनसे सवाल पूछते हैं।”

उन्होंने कहा, “वह केवल चाटुकारों की बैठक लेने के इच्छुक हैं, उन नेताओं के नहीं, जो सवाल पूछते हैं।” खुद को कांग्रेस का वफादार सिपाही करार देते हुए उन्होंने कहा कि वह आगे भी पार्टी की वफादार रहेंगी।